What is DNS in Hindi – DNS क्या है पूरी जानकारी हिंदी में !

what is dns in hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल मे मैं आपको बताऊंगा की What is DNS in Hindi यानि DNS क्या है और DNS कैसे काम करता है वगैरह वगैरह वो भी पूरे डिटेल्स में A से लेकर Z तक।

What is DNS in Hindi – DNS क्या है !

दोस्तों DNS यानि Domain Name System यह एक प्रकार का सिस्टम है जो किसी भी Websites के Ip Address को एक Unique Name देता है।

यानि इसे कुछ इस प्रकार समझिये जैसे Mobile में हमारी पहचान एक Mobile Number  से होता है उसी प्रकार इंटरनेट पर हमारी पहचान Ip Address से होता है।

जैसे 192.168.0.1 और ऐसे ही इंटरनेट पर जितने भी Website है उनकी पहचान भी Ip Address से ही होता है और हर एक Websites का एक Unique Ip Address होता है।

जिस प्रकार हमे अगर किसी को फोन मिलना होता है तो हम उस बंदे का नंबर मिलते है और उस बंदे पर कॉल पहुंच जाता है ठीक उसी प्रकार इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट को ओपन करने के लिए Ip Address की .जरुरत होता है।

लेकिन सोचने वाली बात ये है की Ip Address कुछ इस प्रकार होते है जो की इंसानी दिमाग़ एक से ज़्यादा याद नही रख पाएगा लेकिन इंसानी दिमाग़ नाम एक से ज़्यादा जरूर याद रख सकता है।

तो इसी चीज को धयान में रखकर DNS यानि Domain Name System को बनाया गया था।

दोस्तों ये तो होगया की DNS क्या है लेकिन अब में आपको बताऊंगा की DNS  कैसे काम करता है।

dns in hindi

DNS कैसे काम करता है !

दोस्तों जैसा की मैं ऊपर ही बता चूका हूँ की Dns हमारी Websites के Ip Address  को एक Unique Name देता है जैसे  Facebook का Ip Address है 157.240.13.35 और Google का Ip Address 172.217.160.238 है।

मान लीजिये की अगर आपको फ़ेसबुक ओपन करना है तो आप अपने वेब ब्राउज़र में फ़ेसबुक की Ip Address 157.240.13.35 को Type करकेजैसे ही  Enter Press करेंगे  तो आपके सामने Facebook Open हो जायेगा।

लेकिन Internet पर ऐसे लाखो  Websites है और आप किन किन Websites के  Ip Address को याद करेंगे तो इसीलिए Domain Name System का यूज़ किया जाता है।

इसके अलाबा आपको बतादूँ की हम अपने वेबसाइट के  Ip Address को चेंज कर सकते है यानि किसी भी वेबसाइट का  Ip Address चेंज करा जा सकता है लेकिन उस वेबसीटे का नाम यानि डोमेन Name वही रहेगा।

यानि  अगर हम किसी भी Web Hosting कंपनी से अपने वेबसाइट को होस्ट करने के लिए अगर वेब होस्टिंग खरीदते है तो हमे उस कंपनी के Name Server का यूज़ करना होता है.

जिससे हमारे डोमेन का नाम तो वही रहेगा लेकिन हमारे वेबसाइट की  Ip Address Change हो जायेगा।

यानि Ip Address इस चीज पर Depend करता है की आप कोनसे  कंपनी के होस्टिंग ले रहे है अगर आप इसके बारे में ज्यादा जानना चाहते है तो आप मेरा ये वाला पोस्ट पढ़े →

Domain Name System in Hindi

DNS के काम करने का तरीका !

फ्रेंड्स हम जब भी अपने Web Browser यानि Chrome  Mozilla Firefox Ya Opera Mini Web Browser में किसी भी वेबसाइट का Url डालकर जब सर्च करते है।

तो सबसे पहले हमारा Web Browser DNS Server से  Connect होता है और Dns से पूछता है की Facebook.com का Ip Address क्या है Then  उसके बाद  Dns हमारे वेब ब्राउज़र को Facebook.com का Ip Address ढूंढकर देता है।

Now अब हमारा Web Browser सीधा उस Website के Web Server को Request करता है की  क्या आप 157.240.13.35 से Hand Shake करना चाहोगे।

Then उसके बाद जैसे ही उस वेब सर्वर का रिप्लाई आता है Yes तो अब आपका वेब ब्राउज़र सीधे उस रिक्वेस्ट को हमारे सामने ओपन कर देता है।

यानि हमारे Browser Me Facebook.com Open हो जायेगा  और ये  Process कुछ ही Second के अंदर ही हो जाता है या कहे कुछ  ही Mili Seconds के अंदर ही हो जाता है। .

फ्रेंड्स आपको बतादूँ की Hand Shake एक Technical Word है जिसका मतलब है आपके ब्राउज़र का उस वेब सर्वर से कनेकक्शन बनाना।

Conclusion

दोस्तो “What is Dns in Hindi” यानि Dns क्या है अब आपको पूरे तरीके से समझ में आ गया होगा।

लेकिन अगर आपको फिर भी कुछ चीजे समझ में नहीं आ रहा है या फिर अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो मुझे निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है।

और अगर आपको मेरा ये पोस्ट पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे ताकि उन्हें भी Dns Kya Hai ये पता चले।

Thank You

Leave a Reply

You have to agree to the comment policy.